Yoga

Antibiotic tablet uses in hindi

Antibiotic tablet uses in hindi

Antibiotic tablet uses in hindi

Antibiotic medicine का इस्तेमाल किसी भी बीमारी में इन्फेक्शन को ख़तम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह दवा लगभग सभी डॉक्टर अपने मरीज को उनकी बीमारी में हो रहे इन्फेक्शन को ख़तम करने के लिए देते है। इस टेबलेट से कई प्रकार के इन्फेक्शन को कम किया जा सकता है। ये दवा मेडिकल स्टोर पर भी आसानी से मिल जाती है। क्यूकि इस दवाई से किसी प्रकार का साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है।

Antibiotic tablet के क्या फायदे है |Antibiotic tablet uses in hindi

Antitbiotic table  शक्तिशाली दवाएं हैं जो कुछ संक्रमणों का इलाज करती हैं और अगर सही तरीके से उपयोग किया जाए तो जान बचाई जा सकती हैं। ये  बैक्टीरिया को प्रजनन करने से रोकते हैं या उन्हें नष्ट कर देते हैं। इससे पहले कि बैक्टीरिया बढ़ें और लक्षण पैदा करें, प्रतिरक्षा प्रणाली आम तौर पर उन्हें मार सकती है|

Antibiotic की शरुवात कबसे हुयी थी |Antibiotic tablet uses in hindi

एंटीबायोटिक्स की शुरुआत 1928 में हुई थी जब अलेक्जेंडर फ्लेमिंग ने पेनिसिलिन की खोज की थी। फ्लेमिंग ने पाया कि पेनिसिलियम नॉटैटम नामक फंगस बैक्टीरिया की वृद्धि को रोकता है, जो कि एक प्रकार का एंटीबायोटिक प्रभाव है। हालांकि, पेनिसिलिन का व्यावसायिक रूप से उपयोग 1940 के दशक में शुरू हुआ, जब हॉवर्ड फ्लोरी और एर्नस्ट बोरिस चेन ने इसे और विकसित किया और इसे मानव उपचार के लिए उपलब्ध कराया। इस खोज ने चिकित्सा क्षेत्र में क्रांति ला दी और इसे एंटीबायोटिक युग की शुरुआत माना जाता है।

Antibiotic tablet के साइड इफ़ेक्ट |Antibiotic tablet uses in hindi

सर्दी-जुकाम, खांसी और बुखार होने पर लोग डॉक्टर की सलाह के बिना दवाइयों का सेवन करते हैं। फीवर होने पर एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करना नुकसानदायक होता है। बार-बार एंटीबायोटिक का सेवन करने से शरीर पर इसका असर कम होने लगता है। कुछ दिनों पहले WHO ने एंटीबायोटिक्स को लेकर रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट में बिना मेडिकल की सलाह लिए दवाओं का सेवन करने को लेकर चेतावनी दी गई है। आइए जानते हैं बार-बार एंटीबायोटिक दवा खाने के क्या नुकसान है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार, एंटीबायोटिक दवाओं का बार-बार सेवन करने से ब्लड इंफेक्शन की समस्या हो सकती है। वहीं, शरीर में एंटीमाइक्रोबियल रेसिस्टेंस हो सकता है। डॉक्टर्स सलाह देते हैं कि ओवर द काउंटर मेडिसिन का सेवन करने के गंभीर परिणाम हो सकते हैं। इस लिए दवाओं का सेवन बिना डॉक्टर के परामर्श से लेने से बचना चाहिए।

एंटीबायोटिक दवाओं के अत्यधिक उपयोग के दुष्प्रभावAntibiotic tablet uses in hindi

– मामूली बीमारियों के लिए एंटीबायोटिक्स लेने से पाचन से जुड़े अच्छे बैक्टीरिया खत्म हो सकते हैं। जिससे दस्त, पेट दर्द और मतली हो सकती है।

– उल्टी, चक्कर आना, दस्त और एलर्जी हो सकती है।

Antibiotic tablet कब लेना चाहिए |Antibiotic tablet uses in hindi

एंटीबायोटिक को लेने के लिए कुछ महत्वपूर्ण निर्देश बताया गया है | जो इस प्रकार है |

  1. चिकित्सक की सलाह पर: एंटीबायोटिक्स केवल डॉक्टर की सलाह पर ही लेनी चाहिए। स्वयं निर्णय लेकर या बिना पर्याप्त जांच के इनका सेवन न करें।
  2. निर्धारित खुराक: डॉक्टर द्वारा निर्धारित खुराक और अवधि का सख्ती से पालन करें। खुराक में कमी या अधिकता दोनों ही नुकसानदेह हो सकती हैं।
  3. पूर्ण चिकित्सा कोर्स: भले ही आप स्वयं को बेहतर महसूस करें, पूरे निर्धारित कोर्स को पूरा करें। अगर आप निर्धारित समय से पहले इन्हें बंद कर देते हैं, तो संक्रमण फिर से हो सकता है।
  4. बैक्टीरियल संक्रमण के लिए: एंटीबायोटिक्स केवल बैक्टीरियल संक्रमणों के उपचार में प्रभावी होते हैं। वायरल संक्रमणों, जैसे कि सामान्य सर्दी या फ्लू, पर ये प्रभावी नहीं होते।
  5. साइड इफेक्ट्स के प्रति सचेत रहें: एंटीबायोटिक्स के कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जैसे कि पेट में दर्द, दस्त, और उल्टी। अगर आपको कोई गंभीर साइड इफेक्ट महसूस होता है, तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।
  6. इंटरेक्शन्स की जानकारी: कुछ एंटीबायोटिक्स अन्य दवाइयों के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं। इसलिए, अगर आप अन्य दवाइयाँ ले रहे हैं, तो डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

यह महत्वपूर्ण है कि एंटीबायोटिक्स का उपयोग सावधानीपूर्वक और जिम्मेदारी से किया जाए, ताकि इनकी प्रभावकारिता बनी रहे और एंटीबायोटिक प्रतिरोध की समस्या को रोका जा सके।Antibiotic tablet uses in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *